विद्युत धारा किसे कहते हैं?

विद्युत धारा: वैद्युत आवेश का प्रवाह

विद्युत धारा वैद्युतिक आवेश के गति या प्रवाह में होने को कहते हैं। दूसरे शब्दों में, जब आवेशित कण किसी चालक पदार्थ से एक निश्चित दिशा में गति करते हैं तो उसे विद्युत धारा कहते हैं।

विद्युत धारा के प्रकार:

  • प्रत्यक्ष धारा (DC): यह धारा एक निश्चित दिशा में बहती है।
  • प्रत्यावर्ती धारा (AC): यह धारा समय के साथ अपनी दिशा बदलती रहती है।

विद्युत धारा की इकाई:

विद्युत धारा की SI इकाई एम्पीयर (A) है। 1 एम्पीयर धारा का अर्थ है कि 1 सेकंड में 1 कूलॉम आवेश प्रवाहित होता है।

विद्युत धारा के गुणधर्म:

  • विद्युत धारा एक स्केलर राशि है।
  • विद्युत धारा का प्रवाह हमेशा उच्च विभव से निम्न विभव की ओर होता है।
  • विद्युत धारा का प्रवाह बंद परिपथ में होता है।
  • विद्युत धारा का प्रवाह चालक पदार्थों से होता है।

विद्युत धारा के प्रभाव:

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
  • विद्युत प्रकाश: विद्युत धारा का उपयोग करके प्रकाश उत्पन्न किया जा सकता है।
  • विद्युत ताप: विद्युत धारा का उपयोग करके ताप उत्पन्न किया जा सकता है।
  • विद्युत चुंबकत्व: विद्युत धारा का उपयोग करके चुंबकीय क्षेत्र उत्पन्न किया जा सकता है।
  • विद्युत मोटर: विद्युत धारा का उपयोग करके मोटर को घुमाया जा सकता है।

विद्युत धारा के अनुप्रयोग:

  • घरेलू उपकरण: बिजली के पंखे, बल्ब, टीवी, रेफ्रिजरेटर आदि विद्युत धारा पर काम करते हैं।
  • औद्योगिक उपकरण: मशीनें, मोटर, वेल्डिंग मशीन आदि विद्युत धारा पर काम करते हैं।
  • चिकित्सा उपकरण: एक्स-रे मशीन, ईसीजी मशीन, वेंटिलेटर आदि विद्युत धारा पर काम करते हैं।
  • संचार उपकरण: टेलीफोन, मोबाइल फोन, इंटरनेट आदि विद्युत धारा पर काम करते हैं।

इसे भी पढ़ें :जानिए! धरातल के बारे में सब कुछ About Earth’s surface In Hindi

निष्कर्ष:

विद्युत धारा आधुनिक जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह हमारे जीवन को सुविधाजनक और सुखद बनाती है।

 

Leave a Comment