ऊतक किसे कहते हैं जाने

ऊतक किसे कहते हैं ! utak kise kahate hain ! what is utak in hindi

ऊतक एक विज्ञान है जो जीवों के संरचना, कार्य, विकास, विसंगतियों, व संवेदनशीलता का अध्ययन करता है। यह विज्ञान जीव विज्ञान, जीव शास्त्र, जीव तंत्र विज्ञान या जीव विज्ञान नाम से भी जाना जाता है। यह विज्ञान विभिन्न स्तरों पर जीवों की संरचना और कार्यों को अध्ययन करता है, जैसे कि सेल स्तर, जीवाणु स्तर, पौधों और जानवरों में।

ऊतक किसे कहते हैं ! utak kise kahate hain ! what is utak in hindi

ऊतक विज्ञान का अध्ययन हमें बताता है कि जीवों के रोगों का कारण क्या हो सकता है और कैसे उन्हें रोका जा सकता है। इस विज्ञान में शामिल जैव रसायन, जैव इंजीनियरिंग, जैव विविधता, जैव प्रौद्योगिकी, जीव आनुवंशिकी और जीव पारस्परिक आवेदन जैसे विषय हैं। ऊतक विज्ञान विभिन्न विषयों में लागू होता है, जैसे कि न्यूरोसाइंस, मोलेक्युलर बायोलॉजी, जीव विविधता और जैव इंजीनियरिंग।

ऊतक (Utak) का अर्थ होता है एक संरचित एवं संचित जीवाणुओं का समूह, जिसमें हर जीवाणु के आणविक जीवन के लिए जरूरी जीनों का एक निश्चित क्रम शामिल होता है। यह मनुष्य और अन्य सभी जीवों में पाया जाता है। ऊतक शरीर की सभी संरचनाओं के लिए बहुत महत्वपूर्ण होते हैं, क्योंकि वे शरीर के विकास, संचालन और संभाल के लिए जिम्मेदार होते हैं। यह एक अद्भुत संरचना है जो हमारे शरीर में जीवन को संभालती है।

ऊतक से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न और उनके उत्तर हैं:

ऊतक क्या होता है?
उत्तर: ऊतक एक संरचनात्मक इकाई होती है जो दो या दो से अधिक एटमों से मिलकर बनती है।

ऊतक किसे कहते हैं?
उत्तर: ऊतक को मोलेक्यूल का एक भाग माना जाता है।

ऊतक के विभिन्न प्रकार कौन-कौन से होते हैं?
उत्तर: ऊतक के विभिन्न प्रकार होते हैं जैसे कि धातुओं के ऊतक, अम्लों के ऊतक, आयोनों के ऊतक आदि।

ऊतक का मान कैसे निकाला जाता है?
उत्तर: ऊतक का मान अपनी आयनी भार की औसत से निकाला जाता है।

ऊतक की संरचना में एटमों के बीच कौन-कौन से जोड़ होते हैं?
उत्तर: ऊतक की संरचना में एटमों के बीच आइयनिक, अणुआइयनिक, कोवलेंट आदि जोड़ होते हैं।

ऊतक का आकार किस इकाई में निकाला जाता है?
उत्तर: ऊतक का आकार एंग्स्ट्रॉम (Å) में निकाला जाता है।

इसे भी पढियें:Months Name In Hindi
इसे भी पढियें:दिनों के नाम हिंदी में

ऊतक (DNA) एक अद्भुत और संचित संरचना है जो हमारे शरीर में एक अहम भूमिका निभाती है। इसका अध्ययन हमें शरीर की संरचना और विकास की समझ में मदद करता है। ऊतक अनुक्रम विश्लेषण के माध्यम से वैज्ञानिकों को बीमारियों के कारणों की जाँच करने में मदद मिलती है। इसके अलावा, ऊतक के अध्ययन से नई दवाओं की खोज और उनके विकास में भी मदद मिलती है।

ऊतकों के अध्ययन से वैज्ञानिक उन्नति के क्षेत्रों में भी अहम रोल निभाते हैं जैसे जीन थेरेपी, जीन एडिटिंग और जीनोमिक्स जैसे क्षेत्रों में। इसलिए, ऊतक का अध्ययन वैज्ञानिकों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है और हमारे जीवन में उन्नति और सुधार के लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।