(संधि और समास) & (नाटक और एकांकी) में अंतर

दोस्तों आपको ऐसे पोस्ट इंटरनेट पर कम ही देखने को मिलेंगी जिसमे दो तरह से अंतर वाले लेख शामिल हो । आज आप इस एक ही पेज पर पाएंगे, संधि और समास & एकांकी और नाटक  में अंतर इसी लेख में । आपको यह पोस्ट बहुत ही मजेदार लगने वाली हैं । इसलिए पोस्ट को अंतिम शब्दों तक पढ़ें! Sandhi Aur Samas Mein Antar & Natak our ekanki mein antar

 

कई बच्चे गूगल पर इंटरनेटकी मदद से इनसे संबंधित अंतर खोज समय हमें लिखते है की संधि और समास में कोई तीन अंतर उदाहरण सहित बताइए या लिखिए । नाटक और एकांकी में कोई तीन या पांच अंतर उदाहरण सहित बताइए या लिखिए ।

उन्ही सभी को ध्यान ने देखते हुए हमने अभी के अनेक अंतर को इस पेज पर नीचे दिया है आपको जितने याद हो सके आप याद करें एवम परीक्षा में लिखें ।

(संधि और समास) & (नाटक और एकांकी) में अंतर

 

हम आपको दोनों में अंतर का सामना कराए उससे पहले आपको बता दें की हिंदी व्याकरण के सभी मुख्य पेज को एक साथ हमने हिंदी व्याकरण वाले पेज पर समेटे हुए हैं ।

उसे पढ़ सकते हैं । तो दोस्तों अब पहले हम संधि और समास में अंतर को जान लेख जिसके कुछ नीचे हम नाटक एवं एकांकी संग्रह के मध्य आने वाले अंतर को समझेंगे ।

संधि और समास में अंतर! Sandhi aur samas mein antar

संधि की परिभाषा: दो शब्द या शब्दांशों के मेल-जोक से एक नवीन शब्द का बनना या उनके निकटवर्ती वर्णों के मध्य जब विकार उत्पन्न हो, उसे संधि कहते हैं ।

अन्य परिभाषा: संधि का साधारण मतलब है- मेल! जब दो-अक्षर मिलकर एक अन्य नवीन तीसरा अक्षर बना लेते हैं, उसे संधि कहते हैै ।

balika divas kab manaya jata hai

समास की परिभाषा: समास का शाब्दिक मतलब है संक्षिप्तीकरण ।.. ; दो या दो से अधिक शब्द मिलकर एक नवीन एवं सार्थक शब्द की रचना करते है, इस नए शब्द को समास कहते हैं ।

या कम से कम शब्दों में अधिक से अधिक विस्तार को प्रकट किया जा सके वही समास होता है ।

संधि और समास में तीन अंतर उदाहरण सहित Sandhi aur samas mein antar

संधिसमास
1. समास में दो पदों का जोड़ या मिलन संभव है ।अपितु संधि में दो वर्णो का मिलन या योग संभव है ।
2. संधि का शाब्दिक मतलब मेल होने से है ।जबकि समास शाब्दिक मतलब संक्षेपण से ।
3. संधि के लिए दो वर्णों के मेल जोल और विकार की जरूरत संभव है ।किंतु समास को इस मेल जोल या विकार से कोई मतलब नहीं, अर्थ नहीं!
4. संधि को तोड़ने के मतलब को, विच्छेद कहते है ।जबकि समास को तोड़ने के मतलब को विग्रह होता है ।
5. संधि में पदों के प्रत्यय नही किए जाते,जबकि समास में पदों के प्रत्यय समाप्त कर दिये जाते है ।
6. संधि में वर्णो के योग से वर्ण या वर्ण बदलाब भी होता है ।किन्तु समास में कोई वर्ण बदलाब नहीं होता ।
7. संधि का उदाहरण; जैसे विद्या + आलय = विद्यालय है!जबकि समास के उदाहरण चरणकमल = कमल के सामान चरण ।

 अवश्य पढ़ें!

 वाक्य की परिभाषा | भावार्थ की परिभाषा

तो अब हम नीचे एवं किसे कहते है । सभी तरह की जानकारी देखते हैं ।

>> हिन्दी व्याकरण किसे कहते हैं

नाटक और   एकांकी में अंतर!

नाटक किसे कहते हैं; यह काव्य का ही एक हिस्सा या अंग या भाग है, नाटक दृश्य काव्य के अन्तर्गत आता है । इसे यदि हम साधारण सी भाषा में कहें; तो जो लोग TV, Radio, or Theater पर किसी भी कहानियों को विवरणात्मक रूप से अपने अभिनय द्वारा प्रस्तुत करते हैं, उसे नाटक कहते हैं ।

नाटक में अलग अलग प्रकार के पात्र (महिला, पुरुष एवं बच्चें) होते हैं । और उनके अपने अपने अलग नाम होते हैं, और उन्हें अलग अलग किरदार के तहत अभिनय करना पड़ता हैं ।

इस में बहुत सारे लोग झुंड परफॉर्म करते हैं ।

और इसमें किसी भी वाक्या को अथवा कोई पूरी कहानी को भाव के साथ हाथ, पैर, आंख, चेहरा दिखाते हुए भावनाओं के साथ प्रस्तुति प्रदर्शन किया जाता हैं ।

लोगों एवं दर्शकों को ऐसा प्रतित कराया जाता है

जैसे की वे सभी पात्र हमारे आंखों के सामने ही वास्तविक घटना प्रस्तुत कर रहे हैं ।

एकांकी किसे कहते हैं; एक अंग वाले नाटक को ही एकांकी कहते हैं । नाटक की तरह ही सभी चीजे होती है किंतु इसमें कहानी के किसी छोटे भाग या खंड को लोगों के मध्य प्रस्तुति प्रदर्शन की जाती हैं ।

आकार मे छोटा होने के कारण! इसमें जीवन का खण्ड चित्रण प्रस्तुत होता है. एकांकी में नाटक को ही भांती छः तत्व समाहित हैं । One act play के नाम से अंग्रेजी में इसे जानते हैं ।

>>> जीवनी और आत्मकथा में अंतर

नाटक और एकांकी, में अंतर  

नाटक   एकांकी में कुछ मुख्य अंतर है , जो कि आपको   अवश्य जानना चाहिए । अतः कुछ अंतर को नीचे बता रहे –

नाटकएकांकी
1. नाटक में अनेक अंक (एक से अधिक) होते हैं ।किन्तु एकांकी में सिर्फ एक अंक पाया जाता है ।
2. इसके तहत कई लोगों के संबंध में प्रस्तुति प्रदर्शन होता है ।किन्तु इसमें केवल एक के बारे में ही प्रस्तुति प्रदर्शन किया जाता हैं ।
3. नाटक में किसी भी पात्र / चरित्र का क्रमशः विकास का प्रदर्शन प्रस्तुत होता हैं ।लेकिन एकांकी में चरित्र पूर्णतः विकसित स्वरूप में होता है ।
4. नाटक में कथानक एवं कथावचन में फैलाव और विस्तार मिलता है ।लेकिन एकांकी में घनत्व होता है ।
5. नाटक में हम ओर अन्य पात्र के साथ नाटक को बढ़ा सकते हैं । विस्तार किया जा सकता हैं ।किन्तु एकांकी में ऐसा नहीं किया जा सकता ।
6. नाटक में आधिकारिक के समक्ष उसके सहायक एवं गौण कथाओं का भी छोटा छोटा दृश्य इन कथाएं प्रस्तुत होती हैं ।लेकिन एकांकी में एक ही कथा का खंड वर्णन होता है ।
7. नाटक की विकास प्रक्रिया धीमी प्रवृत्ति से प्रदर्शन होता है ।लेकिन एकांकी की विकास प्रक्रिया बहुत तीव्र प्रदर्शित की जाती हैं ।

अवश्य पढ़ें!
सर्वनाम किसे कहते हैं | पल्लवन क्या हैं

 

पेड़ों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में

अपने जो यह पेज पढ़ा अब आप हमारी टीम से कुछ प्रश्न या उत्तर चाहते है, जो (संधि और समास) & (नाटक और एकांकी) में अंतर – Sandhi our samas ya Natak our ekanki me antar से संबंधित हो.

तो आप कृपया कमेंट बॉक्स में अपने शब्दों को सजाकर लिखें । एवं ऐसे ही अन्य पेज पढ़ने के लिए इंटरनेट पर हमेशा अपने प्रश्नों के, सवालों के बाद में सिर्फ HINDIZY.COM लिखे.

ताकि आप हमार उस पेज तक पहुंच पाए । हमरे पेज को पढ़ने और हमे समझने के लिए धन्यवाद!

Leave a Comment

Your email address will not be published.